नीट परीक्षा गड़बड़ी में तेजस्वी यादव का नाम, होगी जांच

नीट यूजी पेपरलीक केस में बिहार में सियासत थमने का नाम नहीं लेती दिख रही है। अब उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने इस मामले की उच्च स्तरीय जांच को का आदेश दिया है। उन्होंने पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत को इसकी जिम्मेदारी दी है।

इतना ही नहीं विजय सिन्हा ने तेजस्वी यादव पर भी गंभीर आरोप लगाए। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी के पीएस प्रीतम के कहने पर ही पेपर लीक मामले में शामिल एक कैंडिडेट्स के लिए एनएचएआई के गेस्ट हाउस का दरवाजा खुला था। विजय सिन्हा ने दावा किया कि सॉल्वर गैंग के तार राजद से जुड़े हुए हैं। नीट यूजी पेपर लीक केस में जो लोग पकड़े हैं, उनका संबंध तेजस्वी यादव से कहा जा रहा है। राजद पर हमला बोलते हुए कहा कि राजद की मानसिकता ही भ्रष्टाचार, परिवारवाद एवं घोटाले की है।
नीट पेपरलीक केस में जूनियर इंजीनियर सिकंदर प्रसाद यादवेंदु को पुलिस ने गिरफ्तार किया और गेस्ट हाउस की इंट्री रजिस्टर में जिस अनुराग यादव का नाम दर्ज है, वह सिकंदर का जानने वाला रिश्तेदार है। अनुराग यादव को भी पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। उस पर आरोप है कि उसने ही गेस्ट हाउस से कैंडिडेट को लेकर सेफ हाउस पर गया था। पेपरलीक केस के आरोपी नीतीश कुमार और अमित कुमार ने मुझसे कहा था कि हम लोग नीट, बीपीएसएसी और यूपीएससी के साथ अन्य प्रतियोगी परीक्षा का पेपर लीक कराकर कैंडिडेट्स को रटवाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *